प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने टि्वटर हैंडल पर अपने नाम के आगे मैं भी चौकीदार हूं लगा लिया है.  

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्विटर पर अपना नाम बदल दिया है. उन्होंने- मैं भी चौकीदार हूं कैंपेन के तहत अपने ट्विटर हैंडल का नाम बदलते हुए चौकीदार नरेंद्र मोदी कर लिया है. पहले यह नाम नरेंद्र मोदी था. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बाद बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने भी ट्विटर पर अपने नाम के आगे चौकीदार लगा लिया है. नेताओं को देखकर अब  के बीजेपी सभी प्रमुख नेता और कार्यकर्ता नाम बदलने की रेस में शामिल हो गए हैं. बीजेपी ने राहुल गांधी के चौकीदार चोर है नारे के जवाब में मैं हूं चौकीदार कैंपेन शुरू किया है. मकसद है कि 2014 में लांच किए गए चायवाले अभियान की तरह इस बार चौकीदार अभियान से जनता को लुभाने का.

लोकसभा चुनाव की रणभेरी बज चुकी है. सत्तारूढ़ बीजेपी अपनी रणनीति को अंतिम रूप देने में जुट गई है. इसी कड़ी में बीजेपी ने आज ‘मैं भी चौकीदार’ अभियान शुरू किया. पीएम मोदी ने अपने ट्विटर हैंडल पर एक वीडियो जारी कर ‘मैं भी चौकीदार’ से चुनावी मुहिम की शुरुआत की है. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने वीडियो के साथ अपने ट्वीट में कहा, ‘आपका यह चौकीदार राष्ट्र की सेवा में मजबूती से खड़ा है, लेकिन मैं अकेला नहीं हूं’. उन्होंने कहा कि हर कोई जो भ्रष्टाचार, गंदगी, सामाजिक बुराइयों से लड़ा रहा है, वह एक चौकीदार है. मोदी ने कहा कि हर कोई जो भारत की प्रगति के लिये कठिन परिश्रम कर रहा है, वह एक चौकीदार है. उन्होंने कहा, ‘आज हर भारतीय कह रहा है कि मैं भी चौकीदार’. पीएम मोदी अक्सर स्वयं को ऐसा ‘‘चौकीदार” बताते आए हैं जो भ्रष्टाचार को अनुमति नहीं देगा और न ही स्वयं भ्रष्टाचार करेगा.

आपको बता दें कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कई बार अपने भाषणों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला करते हुए ‘चौकीदार चोर है’ कहा था. अब विपक्ष के इसी हमले को भाजपा ने अपने चुनावी प्रचार में शामिल कर लिया है. 2014 के लोकसभा चुनाव में मणिशंकर अय्यर के ‘चायवाला’ टिप्पणी को भी भाजपा ने चुनाव अभियान का हिस्सा बनाया था. गौरतलब है कि पीएम मोदी 31 मार्च को देशवासियों को संबोधित करेंगे. इसके अलावा नरेन्द्र मोदी एप पर ‘मैं भी चौकीदार’ अभियान के तहत संकल्प लेने की मुहिम शुरू की गयी है. आपको बता दें कि लोकसभा चुनाव के लिए मतदान 11 अप्रैल से शुरू होगा। सात चरणों में होने वाला यह मतदान 19 मई को खत्म होगा। चुनाव परिणाम 23 मई को आयेंगे.

भारतीय जनता पार्टी (BJP) की केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक है. बताया रहा है कि इस बैठक में उम्मीदवारों के नामों पर फैसला हो सकता है. बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  और भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह  शामिल होंगे.  बैठक में उन सीटों के लिए उम्मीदवारों का चयन किया जा सकता है, जहां पहले चरण में मतदान हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

scroll to top