नया भारत मजबूरी का नहीं मजबूतीका मॉडल चाहता है: पीएम मोदी

आज कर्नाटक के हुबली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आईआईटी और ट्रिपल आईटी धारवाड़ की आधारशिला रखी। इस अवसर पर पीएम मोदी ने कहा कि इतिहास में पहली बार 5 लाख रुपए प्रति वर्ष की कर योग्य आय को इनकम टैक्स दायरे से बाहर रखा गया है।

इससे हुबली-धारवाड़ में हमारे युवा मित्रों को भी लाभ होगा क्योंकि अधिकांश युवा इस आय वर्ग में आते हैं। विकास की पंचधारा- बच्चों को पढ़ाई, युवाओं को कमाई, बुजुर्गों को दवाई, किसान को सिंचाई और जन-जन की सुनवाई, इसी विजन पर सरकार आगे बढ़ रही है।

पीएम ने आगे कहा कि जिन लोगों ने सोचा था कि उनकी कमाई के बारे में उनसे कभी पूछताछ नहीं की जाएगी और अब उनकी लूट का हिसाब लिया जा रहा है। जिसने भी दलाली खायी है, एक-एक करके उनकी बारी आ रही है। कांग्रेस सिर्फ अपनी स्वार्थ की सोचती है। किसानों, युवाओं और गरीबों के कल्याण में विपक्ष की कोई दिलचस्पी नहीं है।

वे स्वार्थी हैं और केवल अपने हित के लिए काम करते हैं।

उन्‍होंने कहा कि सत्ता की मलाई के लिए विधायक होटलों में लड़ाई-झगड़े कर रहे हैं। कर्नाटक का मजबूर मॉडल वो देश पर भी थोपना चाहते हैं। जहां सरकार का मुखिया कोने में रोता रहे और फैसले नामदार के महलों में होता रहे। पर नया भारत मजबूरी का नहीं मजबूती का मॉडल चाहता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

scroll to top