संगम की रेती पर कुंभ के तीसरे अंतिम शाही स्नान बसंत पंचमी महापर्व पर आस्था का महा जनसैलाब

.संगम की रेती पर कुंभ के तीसरे अंतिम शाही स्नान बसंत पंचमी महापर्व पर आस्था का महा जनसैलाब दिखा जहां करोड़ों की संख्या में श्रद्धालुओं ने संगम में डुबकी लगाई और फिर अपने अपने गणतव्यों की ओर लोग दोबारा से अपनी गठरी लेकर निकल पड़े।

बसंत पंचमी पर लगभग तीन करोड़ श्रद्धालुओं के संगम में स्नान का अनुमान प्रशासन ने लगाया है और कुंभ मेला प्रशासन के दावे भी हैं जो अनुमानन समय समय पर सही साबित हो रहे हैं श्रद्धालुओं ने जय गंगा मैय्या हर हर महादेव के जयकारों से पूरे घाटों पर स्वर गूंजायमान थे शाही स्नान होने की वजह आने वाले श्रद्धालुओं ने आधी रात से संगम में डुबकी लगानी शुरू कर दी जिसका सिलसिला पूरे दिनभर और रातभर यू ही चलता रहेगा।

दूर दराज से आऐ श्रद्धालुओं द्धारा अपने अपनों का हाथ छूट जाने खोने बिछड़ने का सिलसिला जारी रहा जिनका एलान समय समय पर खोया पाया केंद्र से एनाउंस करके किया जा रहा है। अगर देखा जाए तो सुबह से ही बस अड्डो रेलवे स्टेशनों से कुंभ मेला क्षेत्र को जाने वाली सड़कों पर श्रद्धालुओं की भीड़ ही भीड़ नज़र आ रही थी। भीड़ को कंट्रोल करने के चक्कर में तीन से पांच किलोमीटर पहले ही वाहनों को रोक दिए जा रहे थे जिसकी वजह से सड़कों पर हर तरफ पैदल ही पैदल लोग सिर पर गठरी और कंधे पर झोला लिए श्रद्धालुओं ने संगम तट की ओर जल्दी जल्दी बढ़े चले जा रहे थे।

फाफामऊ से लेकर अरैल के बीच में बने 41 स्नान घाटों पर दिनभर पुण्य की डुबकी लगाई जा रही है ऐसे में संगम में आने वाले श्रद्धालुओं ने दिव्य और भव्य कुंभ में व्यवस्था ओं को देखकर गदगद हो उठे और सबके जुबान से एक ही बात निकली पहले से बढ़िया और बेहतरीन कुंभ मेला है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

scroll to top