Live From The Field

चंद्रकला के बाद अब पूर्व आइएएस सत्येंद्र सिंह पर कसा शिकंजा
* लखनऊ से बड़ी खबर…..*
खनन घोटाले में आइएएस अधिकारी चंद्रकला के यहां सीबीआई छापों के बाद अब सपा सरकार में मलाईदार पदों पर रहे पूर्व आइएएस अधिकारी सत्येंद्र कुमार सिंह पर भी शिकंजा कसेगा। आवास विभाग ने सत्येंद्र के खिलाफ की गई सभी शिकायतों और उनसे संबंधित जांच का ब्योरा तीन दिन के अंदर एलडीए से तलब किया है। आवास विभाग के अनुसचिव मनीष चंद्र श्रीवास्तव की ओर से एक चिट्ठी सोमवार को एलडीए उपाध्यक्ष प्रभु एन सिंह को भेजी गई। इसमें शासन के 16 अक्टूबर 2018 को भेजे गए पत्र का संदर्भ दिया गया है।
ढाई साल तक वीसी और डीएम लखनऊ रहे सत्येंद्र सिंह दो बार एलडीए के वीसी और अपने दोनों कार्यकाल के बीच लखनऊ के डीएम रहे। पहली बार 24 दिसंबर 2014 से 30 सितंबर 2015 और दूसरी बार 22 दिसंबर 2016 से 18 अप्रैल 2017 तक उनका कार्यकाल रहा। सत्येंद्र सिंह 31 दिसंबर 2018 को सेवानिवृत्त हुए। उनकी आखिरी पोस्टिंग बतौर सचिव राष्ट्रीय एकीकरण थी। लविप्रा के उपाध्यक्ष प्रभु एन सिंह ने बताया कि आवास विभाग से एक पत्र आया है। इसमें पूर्व वीसी सत्येंद्र कुमार सिंह के खिलाफ शिकायतों से संबंधित रिपोर्ट शासन ने मांगी है। अवैध खनन का खेल उत्तर प्रदेश में कोई नया नही है, इसमें करोड़ो अरबो का खेल चलता चला आ रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

scroll to top